ARTICLES
WWW.JOBDARSHAN.COM

BACK TO JOBDARSHAN.COM HOME>>>CLICK HERE<<<FOR JOB..

LOCKDOWN की टूटती लॉक (COVID19)


यदि हम अपनी इतिहास पे नजर डाले तो हमें बिभिन्न प्रकार की परिस्थितियों के बारे में सुनने को मिलता | परिस्थिति लोगो को बदले , इससे पहले उन्होंने खुद को बदल डाला |


  • परिस्थिति (situation )
  • मज़ाक बना हुवा
  • वर्तमान परिस्थिति पर आज की ये परिस्थिति तो एक मज़ाक सी बानी हुयी है ! आज लोभ लालच एवं मोह से हम इतने घिर गयें हैं, कि इस भयावह परिश्थिति जो कब हमरी दुनिया बदल दे ! हमें क्या परवाह इसका, हमें तो केवल हमारी बर्तमान सुख सुभिदा की कमी दिख रही ! आज सरकार lockdown क्या कर दी मानो हमपे जुल्म हीं कर रही, हमें घरों में घुटन हो रही , बिन सब्जी के खाना नहीं खा सकते |

    मेरे प्यारे देशवासियों यदि आप इस आनेवाली भयावह परिस्थिति की यदि थोड़ी भी कल्पना कर लें न तो आपको सब्जी की कमी नहीं बल्कि आपकी तो भूख हीं मर जावे सच तो ये हैं हम अपनी उस सक्ति को हीं भूल गयें हैं हमारी तो सुरुवात हीं पते चबाने से हुयी, हम तो उस मानवो के बंसज हैं जो बिन खाये सालो रह जाया करते थे | आज इतने दिनों से घर से दूर रह रहे परन्तु सरकार ने lockdown क्या कर दिया, हम तुरत लॉक तोड़ने पे लगे | इतनी भी लाचार नहीं सो भूखो मर जावे आप |

    बन जाओ तुम खुद सहारा , संभल जाये ये देश हमारा - हम खुद को नहीं संभाल सकते तो खाक संभालेंगे दुसरोको देश की तो बात हीं छोडो , अरे जन्म लेने के बाद भी कब तक सहारा चाहिए . सहारा भी बनना सीखो | हमारी सरकार यदि हमारी सुरक्षा को लेकर इतनी बड़ी फैसला लें सकती हैं , तो हमारा भी कुछ कर्तब्य होता हैं मित्रो ! ,

    मित्रो आज का ये मेरा पोस्ट थोड़ी कड़वी भाषा में जरूर रही, पर ये सच्चाई हैं जो की हमें समझना चाहिए

    अंत में एक कविता के माध्यम से भाव प्रकट करूंगा , जिसे आप समझने का प्रयास करेंगे l🙏🙏 --

    😔भले हो तुम तो भला हीं सोचना, मज़ाक मत समझना |

    दूर हो यदि तो दूर हीं रहना-2, बार -बार घर गावों ना जपना ||

    भ्रम हो यदी तो देख लो दुनिया-2, क्या हुवा अब क्या है होना |

    खुद को तुम सम्भालो यारों , आ रहा ये कहर कोरोना ||-2

    भले रहोगे तो सब अपना, वरना ये दुनिया भी सपना |

    भले हो तुम तो भला हीं सोचना , मज़ाक मत समझना ||😔🙏🙏

    |

    Written by: Rahul ojha