ARTICLES
WWW.JOBDARSHAN.COM

BACK TO JOBDARSHAN.COM HOME>>>CLICK HERE<<<FOR JOB..

5 अप्रैल रात 9 बजे PM का ऐसा संदेश क्या मतलब....


नमस्कार! अब आगे क्या होगा ? क्यों ऐसा कह गए प्रधानमंत्री ! एकांत होकर दिये जलाने को| पुरी सच पढ़े !


एक सवाल इस वक्त मन में आ रही हैं क्या इस 21 दिनों के lockdown (14 Aprl तक ) में क्या हम पुरी तरह से काबू पा लेंगे ! सायद इस 21दिनों तक के अवधी में हम cpvide19 पे काबू पा लेते , लेकिन सायद ये दिन अब काफ़ी नहीं रहा, पिछले कुछ दिनों की ,हालात भी देखे होंगे जब 1000रो की संख्या बस स्टैंड , रेल नियर पे भीड़ देखे ! यहाँ तक की लोग पैदल भी घर को चल दिये ! कुछ इन लोगो की हालत ऐसी हो गई थी की इनको खाने को पैसे नहीं थे परन्तु कुछ इनमें से ही घर जाने को अबधै रूप से सामान ढोने वाले गाड़ड़यों के सहारे 20 -30 हजार रूपये देकर घर को निकल पड़े !

अब आप उम्मीद कर सकते हैं की कैसे कैसे lockdown का पालन किये गए ! सायद इनकी हरकत हीं या तो देश तबाह करेगा या lockdown की समये बढ़ाये जा सकते !! ऑप्शन यहीं है | 5 अप्रैल की रात को 9pm को आपने घर के लाइट बंद कर के केवल दिया या मोमबत्ती जलाये ! क्या इससे कोरोना भाग जाइएगा ? सायि वो दिन भी आपको यद् होगा की जब प्रधानमंत्री ने ताली और थाली बजाने को कहे थे , ये सब लोगो को एकजुट और कमर कस लेने को ये पहल करने को कहा, ताकि आगे उनको देश के प्रति कोई फैसला लेने से पहले ये तो पता चले इसके समर्थन के लिए हमारा देश तैयार है या नहीं !

ये दिप जलाना भी अपने एकता को दिखाने का पहल है , कही ना कही हमारा देश अभी भी संकट से बाहर नहीं है , इसप्रकार हमारे प्रधानमंत्री आगे कोई फैसला लेने की तौयारी में हैं | इस संकेत को हम यदि समझ पाए तो इस lockdown को मज़ाक भी नहीं समझना चाहिए ! जितने दिन शेष हैं उसे पूर्ण सफलता में सहयोग करें !

आगे जो फैशला आये, फ़िलहाल इन दिनों आज से हीं हमें पूर्ण सतर्क हो जाने की आवस्यकता है | जो जहाूँ है वही रहें |


    >>>>>>कुछ और बाते<<<<<<<<<<<निचे पढ़े <<<<<<<<<

    LOCKDOWN की टूटती लॉक (COVID19)

    आत्मविश्वास (self-confidence)

कबिता

जिंदा रहने के लिये फासला ज़रूरी है
खुदा जाने अब क्या-क्या जरूरी है

महफिलों में तो बहुत रह चुके हैं
अब तो बस घर में रहना जरूरी हैं


बाहर निकली अपने पूरे बन्दों बसत के साथ
एक साथ ना बेठो अगर जीना जरूरी हैं


कहा था उसने कयामत से पेहले कयामत होगी
अब मैं सोच रहा हुं क्या करना जरूरी है


मौत का खैल शुरु हो चुका है कोरोना वाला
अगर बच सकते हो तो फिर बचना जरूरी है।


इस दौरान इन बातों का खास ध्यान दें.....


-छींकने और खांसने वालों से रखें दूरी बना कर रखें
-अपनी आंख, मुंह और नाक को बार-बार न छुएं


-सार्वजनिक स्‍थानों पर थूकने से बचें
- खेतों की ओर जाने, जीवित पशुओं के बाजार में जानें से बचें


- जहां जानवर का वध किया जाता हो, वहां जानें से बचें

© Copyright @2020 to 2021 at www.jobdarshan.com
For Any Feedback in this website contact us Jobdarshancom@gmail.com