ARTICLES
WWW.JOBDARSHAN.COM

BACK TO JOBDARSHAN.COM HOME>>>CLICK HERE<<<FOR JOB..

आत्मविश्वास (self-confidence)


अपने ऊपर किया गया बिश्वास को आत्मविश्वास कहते है | आत्मविश्वास में भी दो तरह होते है |


  • आत्मविश्वास(self-Confidence)
  • Over Confidence
  • आत्मविश्वास - अपने ऊपर बिस्वास है की मै ऐ काम कर सकता हु यह आत्मविस्वास होता है | वही अगर हो की ऐ काम सिर्फ मै ही कर सकता हु दूसरा कोई नहीं कर सकता ऐ होता है अति आत्मविश्वास(Over Confidence).

    सो सारे बातो को देखते हुए अगर हम कहे तो आत्मविस्वास बहुत ही अच्छा होता है, अति आत्मविश्वास(Over Confidence) से , तो हमारे अंदर आत्मविस्वास होना चाइये लेकिन अति आत्मविश्वास(Over Confidence) नहीं |कहा गया है की अपने ऊपर विस्वास हो तो जग जित लिया जाता है | इस दुनिया में कोई भी काम आसान नहीं है , लेकिन उस काम को कोई न कोई कर ही रहा है ,तो जब उस काम को कोई दूसरा कर सकता है तो मै क्यों नहीं कर सकता बस अपने ऊपर विस्वास होना चाहिए |

    किसी ने लिखा है -----आत्मविस्वास की जब पहचान होती है , मन का विस्वास तब जाग उठता है ,आशा का प्रकाश तब आलोकमय होता है , जब मन में पूर्ण विश्स्वास होता है ,

    जिनको कठिनाईयों की परवाह नहीं है , उनकी कभी हार नहीं होती --कहा गया है लहरों से डर कर नैया पार नहीं होती कोसिस करने वाले की कभी हर नहीं होती --लक्छ तक पहुंचने की जिसकी इक्छा होती है उनको कोई बाधा नहीं रोक शक्ति ---स्वप्न देखने से कुछ नहीं होता मेरे दोस्त लगन से की गई मेहनत बेकार नहीं होती .| तो कभी व् हमें अपने आत्विश्वास को नहीं भूलना चाहिए |

    Written by:श्रुतिका(shrutika)